May 21, 2019 9:00 AM
Breaking News
Home / स्पोर्ट्स / ब्रह्म कुमारी द्वारा एशिया जूनियर पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप के स्वर्ण पदक विजेता वीरेन्द्र का किया सम्मान

ब्रह्म कुमारी द्वारा एशिया जूनियर पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप के स्वर्ण पदक विजेता वीरेन्द्र का किया सम्मान

गुरूवार, 2 मई 2019

विनोद धर (संवाददाता)

सोनभद्र | आत्मबल मजबूत हो और ईश्वर का साथ हो तो साधनों के अभाव में भी सफलता की बड़ी लकीर खींची जा सकती है l सोनभद्र के म्योरपुर ब्लाक के कुंडाडीह ग्राम में शैक्षिक और आर्थिक रूप से पिछड़े परिवार में जन्मे आदिवासी युवा ब्रह्मा कुमार वीरेंद्र सिंह मरकाम ने हॉन्गकोंग में 20 से 26 अप्रैल 2019 तक संपन्न हुई एशिया जूनियर पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप में 53 किलोग्राम भार वर्ग में टोटल 470 किलोग्राम भार उठाकर स्वर्ण पदक जीतकर जनपद वासियों और देशवासियों का सिर गर्व से ऊंचा कर दिया है। यह होनहार पावर लिफ्टर वीरेंद्र मरकाम के स्वर्णिम सफर की शुरुआत है।

उसकी आंखों में असली सपना 2024 में ओलंपिक गेम में लिए देश के लिए स्वर्ण पदक जीतना है। परंतु वीरेंद्र की राह में सबसे बड़ा अवरोध उसकी आर्थिक स्थिति है यदि कारपोरेट जगत का आर्थिक सहयोग और सुविधाएं मिल जाए तो वीरेंद्र का सपना हकीकत में बदल सकता है और समस्त देशवासियों को गौरवान्वित होने के लिए एक सशक्त भारत की नई शुरुआत हो सकती है।

वीरेंद्र मरकाम सुबह एवं शाम 6 बजे से 9 बजे तक कुल 6 घंटा प्रतिदिन का अभ्यास करते हैंl वीरेंद्र के हॉन्ग कोंग के स्वर्णिम सफर की राह आसान नहीं थीl राज्यसभा 1सांसद श्री रामसकल ने 50000, अल्ट्राटेक सीमेंट 50000 तथा कुछ जितेंद्र वर्मा, कृति श्रीवास्तव, सुरेंद्र ,निर्भय सिंह शिल्पा सिंह, युवा ग्राम पंचायत अधिकारियों ने 50,000 आर्थिक सहयोग की व्यवस्था कर वीरेंद्र के स्वर्णिम राह को तैयार करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। वीरेंद्र का अगला लक्ष्य 26 से 31 अगस्त 2019 तक कनाडा में आयोजित होने वाली वर्ल्ड जूनियर पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप में देश के लिए सोने के लिए वजन उठाना है। वीरेंद्र के पिता मंगला प्रसाद गांव कुंडाडीह क्षेत्र मे रहकर खेती किसानी करके जीवन यापन करते हैं तथा माता श्रीमती सावित्री देवी आंगनवाड़ी कार्यकर्ती हैं वीरेंद्र सन 2018 में राष्ट्रीय पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक प्राप्त कर चुके हैं।

20 वर्षीय आदिवासी युवक वीरेंद्र का लक्ष्य के प्रति समर्पण भाव कड़ा अभ्यास और समाज के लोगों के आर्थिक सहयोग और एक सशक्त भारत की एक नई कहानी लिख सकता है l ज्ञातव्य है कि वीरेंद्र पूर्णत शाकाहारी हैं तथा ब्रह्माकुमारी संस्था से जुड़े हुए हैं और अजेय मानसिक संकल्प शक्ति के विकास के लिए प्रतिदिन 1 घंटे राज योग का अभ्यास करते हैं।

विकास नगर स्थित ब्रह्माकुमारीज के स्थानीय सेवा केंद्र पर ब्रह्माकुमार वीरेंद्र का आज स्वागत समारोह रखा गया l उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामना करते हुए स्थानीय सेवा केंद्र के मुख्य संचालिका ब्रम्हाकुमारी सुमन दीदी जी तथा मिर्जापुर सेवा केंद्र की मुख्य संचालिका बीके बिंदु बहन ने शुभकामना व्यक्त करते हुए कहा कि एक दिन वीरेंद्र भाई अंतरराष्ट्रीय क्षितिज पर चमकते हुए सफलता के सितारे बनकर भारत का नाम पूरी दुनिया में रोशन करेंगेl स्वागत समारोह के अवसर पर जनपद के विभिन्न भागों से आए हुए बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे l कार्यक्रम को सफल बनाने में बी के प्रतिभा बहन, बीके सीता बहन ,बीके नीति बहन, तथा बीके सरोज बहन तथा बी के गोपाल भाई , राजीव शुक्ला ने अपना योगदान दिया। इस आशय की सुचना सेवा केंद्र प्रभारी बीके सुमन ने दिया।

Check Also

IPL 2019 : CSK ने SRH को 6 विकेट से हराया

24 अप्रैल 2019 धुरंधर शेन वॉटसन (96) की शानदार पारी की बदौलत 3 बार की …

error: