May 26, 2019 5:26 AM
Breaking News
Home / फ़्लैश / चुनाव आयोग का बड़ा फैसला, 9 संसदीय क्षेत्रों में चुनाव प्रचार पर लगाई रोक

चुनाव आयोग का बड़ा फैसला, 9 संसदीय क्षेत्रों में चुनाव प्रचार पर लगाई रोक

15 मई 2019

पश्चिम बंगाल में चुनाव आयोग ने बुधवार को चुनाव प्रचार को दो दिन पहले ही रोकने की घोषणा कर दी है। चुनाव आयोग ने गुरुवार रात 10 बजे से चुनाव प्रचार पर रोक लगाई है। पश्चिम बंगाल के हालातों का संज्ञान लेते हुए चुनाव आयोग ने वहां के प्रधान गृह सचिव को हटा दिया है।

इसके अलावा कोलकाता पुलिस कमिश्नर को भी हटाते हुए चुनाव आयोग ने सोशल मीडिया पर वीडियो डालने पर भी पाबंदी लगा दी है। चुनाव आयोग ने ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़ने वालों ने खिलाफ कार्रवाई करने का भी पुलिस को आदेश दिया है।

पश्चिम बंगाल के 9 संसदीय क्षेत्रों- दम दम, बारासात, बसीरहाट, जयनगर, मथुरापुर, जादवपुर, डायमंड हार्बर, दक्षिण और उत्तरी कोलकाता में चुनाव संपन्न होने तक गुरुवार से चुनाव प्रचार नहीं होगा।

बंगाल में चुनाव आयोग की कार्रवाई पर पक्ष विपक्ष की लगातार प्रतिक्रियाएं आर रही हैं। एमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि सिर्फ पश्चिम बंगाल में ही ऐसा क्यों किया गया? पूर्वांचल के लिए भी ऐसा क्यों नहीं हुआ?

इस घटना के बारे में ममता बनर्जी ने कहा कि अमित शाह के इशारे पर चुनाव आयोग ने ऐसा फैसला लिया। बिहार, यूपी और त्रिपुरा की तरह बंगाल को न समझा जाए । राज्य सरकार की सुरक्षा होती तो हिंसा नहीं होती. चुनाव आयोग ने बीजेपी के इशारे पर फैसला लिया है।’ ममता ने आगे कहा, ‘वे (बीजेपी) बाहर से गुंडे ले आए । उन लोगों ने गेरुआ पहना था, वे कैंपस में घुस गए । दंगा भड़काने के बाद वे चले गए। हमने छात्रों और बुद्धिजीवियों को नियंत्रित किया।’ ममता ने पूछा कि अमित शाह को चुनाव आयोग ने नोटिस क्यों नहीं दिया । अमित शाह चुनाव आयोग को धमका रहे हैं । नरेंद्र मोदी ने माफी तो दूर मूर्ति तोड़ने की निंदा भी नहीं की. ममता ने कहा कि चुनाव आयोग में आरएसएस के लोग भरे हैं. बीजेपी ने बंगाल और बंगालियों का अपमान किया है ।

इससे पहले केंद्रीय पुलिस पर्यवेक्षक विवेक दुबे ने बुधवार को कहा कि बीजेपी के अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में हुई हिंसक झड़प के मामले में तीन प्राथमिकी (एफआईआर) दर्ज की गई है । मंगलवार को पथराव, तोड़फोड़, बंगाल के पुनर्जागरण के स्तंभों में से एक ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ने और गाड़ियों को आग लगाने की सूचनाएं मिलीं । दुबे ने कहा कि चुनाव आयोग कॉलेज स्ट्रीट पर हिंसा के मामले में कदम उठाएगा. उन्होंने कहा कि मामले में तीन प्राथमिकी दर्ज की गई हैं, पहले जांच पूरी होने दें।

बता दें कि कलकत्ता यूनिवर्सिटी परिसर और विद्यासागर कॉलेज में मंगलवार को तृणमूल कांग्रेस की छात्र इकाई और बीजेपी के कार्यकताओं के बीच हिंसक झड़प हो गई थी । घटना में तीन बाइकों को आग के हवाले कर दिया गया और दोनों ही तरफ से कई लोग झड़प में घायल हो गए.

इस घटना पर आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने बीजेपी पर बंगाल में हिंसा फैलाने का आरोप लगाया । नायडू ने इसके साथ ही यह भी आरोप लगाया कि बीजेपी वहां राज्य सरकार को अस्थिर करने का प्रयास कर रही है । नायडू ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर आरोप लगाया कि उन्होंने मंगलवार को अपने रोड शो के दौरान ‘गुंडों’ की मदद से हिंसा भड़काई ।

इससे पहले यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ममता बनर्जी को चुनौती देते हुए कहा कि याचना नहीं अब रण होगा । योगी ने पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की भी मांग की । योगी ने बंगाल रवाना होने से पहले ट्वीट किया, ‘बंगाल! सबसे पहले जय श्रीराम से आप सबका अभिवादन! आज आपके बीच रहूंगा…” उन्होंने कहा, ‘तानाशाहों तक यह संदेश पहुंचे कि राम इस देश के कण-कण में हैं, स्वतंत्रता इस देश की जीवनी-शक्ति है और मैं बंगाल के क्रांतिधर्मी युयुत्सु का आह्वान कर रहा हूं । याचना नहीं, अब रण होगा, जीवन जय या कि मरण होगा.’

उधर कांग्रेस ने दावा किया कि भगवा दल पश्चिम बंगाल में सत्ताबल और बाहुबल के जरिए प्रजातंत्र का चीरहरण कर रहा है और राज्यों की सांस्कृतिक पहचान, संघीय ढांचे पर प्रहार कर रहा है । कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी कहा कि समाज सुधारक ईश्वरचंद्र विद्यासगर की प्रतिमा खंडित किए जाने से साबित हो गया है कि बीजेपी क्षेत्रीय परंपरा और संस्कृति का सम्मान नहीं करती. सुरजेवाला ने कहा, ‘बीजेपी का रास्ता घृणा, बंटवारे, हिंसा और गाली-गलौज का है । वह प्रजातंत्र का अपहरण करने की साजिश कर रही है । बीजेपी सत्ताबल और बाहुबल का इस्तेमाल कर पश्चिम बंगाल में प्रजातंत्र का चीरहरण कर रही है । मुझे विश्वास है कि बंगाल की बहादुर जनता उनको इस षड्यंत्र में कभी कामयाब नहीं होने देगी ।’

Check Also

दुःखद : बिल्डिंग में लगी आग, बचने के चक्कर में कूदे छात्र, 15 की मौत

24 मई 2019 सूरत के सरथना इलाके में स्थित तक्षशिला कॉम्प्लेक्स में लगी आग ने …

error: