June 26, 2019 2:02 AM
Breaking News
Home / विदेश / फेक न्यूज और नफरत फैलाने वाले भाषण रोकने के लिए श्रीलंका में आ रहा नया कानून

फेक न्यूज और नफरत फैलाने वाले भाषण रोकने के लिए श्रीलंका में आ रहा नया कानून

06 जून 2019

श्रीलंका सरकार फेक न्यूज और नफरत फैलाने वाले भाषण रोकने के लिए नया कानून लाने जा रही है। इसके तहत सोशल मीडिया पर गलत जानकारी और नफरत फैलाने के दोषी को 5 साल जेल की सजा दी जाएगी। इसके अलावा उस पर 10 लाख श्रीलंकाई रुपए (करीब 3.92 लाख भारतीय रु.) का जुर्माना भी लगाया जाएगा।

ईस्टर धमाकों के बादसरकार ने उठाया कदम

सरकार ने अभी इन दोनों अपराधों की परिभाषा नहीं बताई है। हालांकि जल्द ही दंड संहिता को संशोधित किया जाएगा। दरअसल, 21 अप्रैल को ईस्टर पर हुए सीरियल धमाकों के बाद पूरे श्रीलंका में सोशल मीडिया के जरिए फेक न्यूज और नफरत वाले बयान फैलाए गए। इसके चलते कई जगहों पर मुस्लिम समुदायों पर हमले हुए। सरकार ने इसके लिए फेसबुक, ट्विटर और वॉट्सऐप को गैरजिम्मेदाराना रवैया अपनाने का दोषी ठहराया था।

श्रीलंका में फर्जी खबरों को रोकने के लिए बाद में सरकार ने खुद सोशल मीडिया पर 9 दिन का बैन लगा दिया था। इस दौरान आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने हमलों की जिम्मेदारी ली थी और हमले के आरोपियों की फोटो और वीडियो जारी किए थे। वीडियो के अलग-अलग माध्यमों से लोगों तक पहुंचने के बाद देश में यूट्यूब पर भी अस्थाई रोक लगा दी गई थी।

Check Also

मास्को में इमरजेंसी लैंडिंग के दौरान यात्री विमान में लगी आग, 41 की मौत

06 मई 2019 रूस की राजधानी मॉस्को में रविवार को इमर्जेंसी लैंडिंग के दौरान सुखोई …

error: