June 25, 2019 6:42 PM
Breaking News
Home / हेल्थ / कच्चे आम से जुड़े ये फायदे जानते हैं आप

कच्चे आम से जुड़े ये फायदे जानते हैं आप

एक स्वस्थ व्यक्ति रोजाना 100 से 150 ग्राम कटे हुए आम का सेवन कर सकता है। डायबिटीज, हाइपरटेंशन के मरीजों के लिए रोजाना 10 ग्राम आम का सेवन करना ही बेहतर है। आम के स्क्वैश, जूस, आइसक्रीम को नजरअंदाज करना चाहिए, क्योंकि इनसे शुगर बढ़ती है। हाई शुगर से भरपूर आम का ज्यादा सेवन मोटापे को ही नहीं, कई बार त्वचा रोगों को भी न्योता देता है। इससे त्वचा पर दाने, घमौरियां निकल आती हैं। इसलिए आम का सीमित मात्रा में सेवन करना ही अच्छा है। यहां जानें कच्चे आम से जुड़े ये फायदे

डीहाइड्रेशन से बचाए : विटामिन सी और खनिज तत्वों से भरपूर कच्चा आम चुटकी भर नमक के साथ खाने से गर्मियों में तापमान के प्रभाव से बचाव होता है और शरीर में पानी की कमी नहीं होती।

लू लगने से करे बचाव : उबले हरे आम के रस में चीनी और भुना जीरा मिलाकर बना पना पीने से सन स्ट्रोक और तपती गर्मी में होने वाले त्वचा रोगों में आराम मिलता है। कच्चे आम में जेंथोन एंटीऑक्सिडेंट मिलता है, जो यूवी किरणों से हमारे शरीर को बचाने में मदद करता है।

खनिजों की क्षति को करे कम : गर्मी के मौसम में पसीने के कारण हमारे शरीर में आयरन, सोडियम क्लोराइड जैसे खनिज कम हो जाते हैं। कच्चे आम का रस इस नुकसान को बचाता है।

पेट की समस्याओं में फायदेमंद : कच्चा आम शरीर में पानी की आपूर्ति में सहायक होता है, जो हमारे पाचन के लिए जरूरी है। इसमें एसिड होता है, जिससे गर्मियों में होने वाली पाचन संबंधी समस्याओं से बचा जा सकता है। इसमें मौजूद पैक्टिन की से डायरिया, दस्त, बवासीर, पेचिश, कब्ज, अपच और एसिडिटी जैसी पेट की आम समस्याओं के उपचार में मदद मिलती है।

जी मितलाना करे कम : उमस भरे मौसम में जी मितलाने की समस्या कैरी को काट कर काले नमक के साथ खाने से दूर होती है।
रक्त विकार दूर करने में कारगर : विटामिन सी से भरपूर हरे आम का सेवन रक्त कणों के निर्माण में सहायक है। यह रक्त की कमी, ब्लड कैंसर, हैजा, तपेदिक जैसी बीमारियों से बचाव करता है।

दांतों के लिए फायदेमंद : विटामिन सी और एंटीऑक्सिडेंट्स से भरपूर कच्चे आम को नमक के साथ खाने से मसूड़े और दांत मजबूत होते हैं। यह मुंह से आने वाली बदबू को भी कम करता है।

Check Also

योग करे, निरोग रहें

रविवार, 09 जून 2019 अभिषेक कुमार सिंह (योग प्रशिक्षक) मर्कटासन (मंकी पोज) यह आसन सीधे …

error: