June 26, 2019 2:10 AM
Breaking News
Home / फ़्लैश / अरुणाचल के सियांग में देखा गया लापता विमान AN-32 का मलबा

अरुणाचल के सियांग में देखा गया लापता विमान AN-32 का मलबा

11 जून 2019

भारतीय वायुसेना के लापता विमान AN-32 का मलबा अरुणाचल के सियांग जिले में देखा गया है। प्लेन की टोह लेने में एक हफ्ते से ज्यादा का वक्त लग गया और अब उस जगह तक पहुंचना भी कम चुनौतीपूर्ण नहीं है। दरअसल, उस इलाके में घने जंगल हैं और वहां तक पहुंचना काफी कठिन है। ऐसे में मलबे वाली जगह पर कमांडोज को हेलिकॉप्टर से उतारा जाएगा और ग्राउंड पार्टी को वहां तक पहुंचने में 1-2 दिन लग सकते हैं। बतादें यह विमान 3 जून को असम के जोरहाट से उड़ान भरा था और लापता हो गया था । इस विमान में 8 क्रू मेंबर समेत 13 लोग सवार थे ।

भारतीय वायु सेना ने स्थानीय अधिकारियों को बताया कि विमान का मलबा एमआई 17 विमान ने ढूंढा है । उन्होंने बताया कि एमआई 17 अभी विमान की लोकेशन के ऊपर है । यह स्थान सियांग जिले के पयूम में स्थित है। वायुसेना अब यह पता लगा रही है कि जो मलबा मिला है वह क्या लापता एएन-32 ट्रांसपोर्ट विमान का ही है ।

खराब मौसम के बावजूद भारतीय वायुसेना के परिवहन विमान एएन-32 के लिए व्यापक तलाशी अभियान चलाया जा रहा है । विमान में 13 लोग सवार थे, जो अरुणाचल प्रदेश जाने के क्रम में लापता हो गया था । बीते बुधवार को वायुसेना ने इस विमान की तलाश के लिए एसयू-30 जेट लड़ाकू विमान, सी130 जे, एमआई17 और एएलएच हेलीकॉप्टरों को लगाया।

अलग-अलग रिसर्च में एक बात निकलकर आई है कि इस एरिया के आसमान में बहुत ज्यादा टर्बुलेंस और 100 मील प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली हवा यहां की घाटियों के संपर्क में आने पर ऐसी स्थितियां बनाती हैं कि यहां उड़ान बहुत ज्यादा मुश्किल हो जाती है। वहीं, यहां की घाटियां और घने जंगलों में घिरे हुए किसी विमान के मलबे को तलाश करना ऐसा मिशन बन जाता है जिसके पूरा होने में कई बार सालों लग जाते हैं।

1980 में शामिल हुआ था एएन-32 विमान

सोवियत एरा का यह एयरक्राफ्ट 1980 में भारतीय वायुसेना में शामिल किया गया था। इसे लगातार अपडेट किया गया। हालांकि लापता प्लेन एएन-32 इन अपग्रेडेड एयरक्राफ्ट का हिस्सा नहीं है।

Check Also

राजस्थान में कर्ज से डूबे किसान की मौत, सुसाइड नोट में गहलोत और सचिन पायलट को बताया दोषी

25 जून 2019 किसानों को लेकर देश में लगातार कई बड़ी-बड़ी बातें होती हैं लेकिन …

error: